अगर न सुलझें उलझनें/सब ईश्वर पर छोड़। नित्य प्रार्थना कीजिये/ शांत चित्त कर जोड़।

Thursday, 4 April 2013

हिंदी में लिखने के लिए


जिन्हें कंप्यूटर पर सीधे देवनागरी में लिखने की विधि नहीं पता और वे सीधे देवनागरी में लिखना चाहते हैं वे माइक्रोसॉफ्ट का इंडिक लैंगवेज़ इनपुट टूल अपने कंप्यूटर में संस्थापित कर लें

http://www.bhashaindia.com/ilit/Hindi.aspx

-एक और लिंक 

http://www.google.co.in/inputtools/windows/

इस लिंक को डाउनलोड कर के आप हिंदी भाषा ( देवनागरी) में ऑनलाइन और आफ लाइन यहाँ तक की वर्ल्ड की फाइल में भी सीधे हिंदी ( देवनागरी) लिख सकते हो बिना किसी फौंट सपोर्ट के ! आप इस लिंक को डाउन लोड कीजिये उसके बाद रन करा दीजिये रन समाप्त होते ही आप के सिस्टम पर इन्टरनेट सिग्नल के पास EN या HI दिखेगा, इंग्लिश के लिए आप को EN का चुनाव करना है और हिंदी ( देवनागरी) के लिए HI का चुनाव करना है ....

No comments:

पुनः पधारिए


आप अपना अमूल्य समय देकर मेरे ब्लॉग पर आए यह मेरे लिए हर्षकारक है। मेरी रचना पसंद आने पर अगर आप दो शब्द टिप्पणी स्वरूप लिखेंगे तो अपने सद मित्रों को मन से जुड़ा हुआ महसूस करूँगी और आपकी उपस्थिति का आभास हमेशा मुझे ऊर्जावान बनाए रखेगा।

धन्यवाद सहित

--कल्पना रामानी

Google+ Followers

Followers